• Tue. Jan 31st, 2023

मध्य प्रदेश के सीधी में हुए बस हादसे पर अब सियासत शुरू हो गई है

Byadmin

Feb 16, 2021

इंदौर :- मध्य प्रदेश के सीधी में हुए बस हादसे पर अब सियासत शुरू हो गई है. खासकर प्रदेश के परिवहन मंत्री निशाने पर आ गए हैं. परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को पहले तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तलब किया, इसके बाद मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने हादसे को लेकर उनका इस्तीफा मांग लिया है. प्रदेश कांग्रेस सचिव राकेश सिंह यादव ने आरोप लगाया कि हादसे की शिकार बस का न फ़िटनेस और न ही परमिट थी. बस अवैध रूप से चल रही थी. इसलिए परिवहन अधिकारियों पर ग़ैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए.

बता दें कि सीधी बस हादसे में मरने वालों की संख्या 38 तक जा पहुंची है. इसकी पुष्टि मौके पर मौजूद एसडीआरएफ की टीम ने की है. मरने वालों में स्टूडेंट, महिला और बुजुर्ग सब शामिल हैं. इधर CM शिवराज सिंह चौहान ने सीधी बस हादसे के बाद मिंटो हाल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाले 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश के कार्यक्रम को निरस्त कर दिया है. साथ ही उन्होंने मौके पर मंत्री तुलसी सिलावट औररामखिलावन पटेल को भेजा है.

दोनों मंत्री घटनास्थल का दौरा कर राहत बचाव कार्य देखेंगे और सीएम शिवराज को रिपोर्ट देंगे. इस बीच सीएम शिवराज ने परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को बुलाया है. वो मंत्रालय में परिवहन मंत्री से हादसे के बारे में चर्चा करेंगे. सीएम शिवराज सिंह ने मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है. प्रत्येक मृतक के परिवार को 5 लाख रुपये दिए जाएंगे.

सीएम शिवराज ने अपने संदेश में कहा कि ‘मेरे प्रिय बहनों और भाइयों आज हम बड़े उत्साह से 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम संपन्न करने वाले थे, लेकिन सवेरे 8:00 बजे ही मुझे यह सूचना मिली. सीधी जिले में बाणसागर की नहर में शारदा पाटन करके गांव हैं. वहां यात्रियों से भरी एक बस गिर गई, बाणसागर की नहर काफी गहरी है. हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया. राहत और बचाव दलों को रवाना किया कलेक्टर एसपी एसडीआरएफ की टीम वहां है. हाइड्रा क्रेन सारे संसाधन पहुंचे रहे हैं’.