• Sat. Jan 28th, 2023

60.65 करोड़ रुपये के गुरु गोरक्षनाथ घाट रामघाट व मुक्तिधाम का सीएम योगी ने किया लोकार्पण व शिलान्यास

Byadmin

Feb 16, 2021

उत्तर प्रदेश :- मानव काया के अंतिम पड़ाव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विकासपरक सोच ने एक अद्भुत आयाम दे दिया है। जो स्थान कभी बिलकुल उपेक्षित और जरूरी सुविधाओं से कोसों दूर था अब सौंदर्य और अत्याधुनिक नागरिक सुविधाओं का नया प्रतिमान बन गया है। सीएम योगी की यह खास पहल ही है जिसने अंत्येष्टि स्थल को भी पर्यटन के नक्शे पर चमका दिया है। राजघाट के बाएं तट पर हुए भव्य सौंदर्यीकरण व नागरिक सुविधाओं के निर्माण कार्य के बाद इस तट को महायोगी गुरु गोरक्षनाथ के नाम पर समर्पित किया गया है जबकि इसके ठीक समानांतर नदी के दाएं तट पर हुए विहंगम निर्माण कार्य के बाद घाट को प्रभु श्रीराम के नाम पर रामघाट नाम दिया गया है। इन दोनों घाटों के साथ राजघाट पर अंत्येष्टि स्थल निर्माण व प्रदूषणमुक्त लकड़ी एवं गैस आधारित शवदाह संयंत्र का लोकार्पण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा राजघाट पर हाबर्ट बंधे से नई सीसी सड़क तक सीसी नाली व सड़क का शिलान्यास भी किया गया। इन सभी विकास परियोजनाओं की लागत 60.65 करोड़ रुपये है।

गोरखपुर में राप्ती नदी के राजघाट के दोनों तटों पर बने महायोगी गुरु गोरक्षनाथ घाट व इसके सामने रामघाट की सुंदरता देखते ही बन रही है। यहां पहुंचने वालों की तो बात ही क्या राप्ती पुल से होकर गुजरने वाले की नज़र पड़ते ही ठहर कर यहां के निखरे सौंदर्य को एकटक देखने लग जाते हैं। देखने के बाद उनकी चर्चाओं में यही बात रहती है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्मशान को भी पर्यटन स्थल बनाकर दिखा दिया। ऐसी चर्चाएं लाजिमी भी हैं। सीएम योगी न केवल इस परियोजना के शिल्पी हैं बल्कि समय समय पर यहां निरीक्षण कर और इस परियोजना की समीक्षा कर जरूरी नागरिक सुविधाओं की मुकम्मल व्यवस्था के लिए अधिकारियों को निर्देश देते रहे हैं। मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप इन दोनों घाटों पर राजस्थान के लाल पत्थरों से राजस्थानी शैली की स्थापत्य कला नयनाभिराम है। योगी सरकार के पहले तक पूरी तरह उपेक्षित यह स्थान अब गोरखपुर के रमणीक स्थलों में शुमार है। इन दोनों घाटों का निर्माण कार्यदायी संस्था सिचाई विभाग ने कराया है।रविकिशन सांसद ने कहा कि महाराज जी के बारे में आज शब्द नहीं मिल रहा है प्रधानमंत्री जी की ही तरह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे लोग सदियों में जन्म लेते हैं ई राजघाट जहां रामघाट मुख्यमंत्री जी बनाये हैं यहाँ सभी को प्रणाम करता हूं

आज जो भव्य माहौल बना है. यहां मरने में एकदम आनंद आएगा इलेक्ट्रिक मशीन में दाह होगा लेकिन स्वर्ग वही जाएगा जो यहां पर शौच नहीं करेगा 24 घंटे योगी जी ने दे दिए हैं आपने जो भरोसा रखा है उसे बरकरार रखें उन्हें सीएम लगातार बनाते रहिए पहले यूपी को अपराध के लिए जाना जाता था आज यूपी को विकास के लिए जाना जाता है इसी सोच के साथ उन्होंने विकास किया है 3 साल पहले गोरखपुर में क्या था आज गोरखपुर में हर तरफ विकास दिख रहा है महेंद्र सिंह जल शक्ति मंत्री ने कहा कि बसंत पंचमी के दिन माँ सरस्वती विराजमान हो गोरखपुर के लोग सोचते होंगे कि वे भाग्यशाली हैं उन्होंने यूपी का सर्वांगीण विकास करने वाले सीएम योगी जी की कैबिनेट में मंत्री हूं ये बात यूपी के बाहर जनसभा में कहता हूँ

ने राप्ती तट पर बनारस के तर्ज पर बने 60 65 करोड़ की गुरुगोरक्षनाथ व श्रीराम घाट सीसी रोड व नाली के परियोंनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास साथ में 100 सौ विकलांगो को मुख्यमंत्री ट्राई साइकिल भी वितरण किया 25 हजार दियो से जगमग हुआ व योगी ने गागा आरती भी किया योगी आदित्यनाथ महायोगी गुरु गोरखनाथ भाग से रामघाट पहुंचकर वहां के कार्यों का निरीक्षण कर वोट से पुनः महायोगी गोरखनाथ घाट पर आकर लोकार्पण व शिलान्यास गोरक्षनाथ घाट पर बनाए गए मंच से किया सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गोरखपुर के लिए 3 परियोजनाओं के लोकार्पण और एक परियोजना के शिलान्यास के अवसर पर आप सभी का स्वागत-अभिनंदन करता हूं आज तीन घाट गुरु गोरखनाथ रामघाट और राजघाट के साथ सीसी रोड के शिलान्यास कार्यक्रम में आपका स्वागत है जिसने जन्म लिया है उसकी मृत्य भी निश्चित है

जिनका भी अंतिम संस्कार हो वहां पर सम्मान के साथ हो पहले यहां आने पर गंदगी होती थी घाट पर शव दाह के ओर होता था दूसरी ओर जानवर भी मरा पड़ा होता था रविकिशन जी किसे स्वर्ग भेजते हैं किसे नरक भेजते हैं ये उनका विषय है लोगों ने कहा कि ये अच्छा बना है सरकार अच्छा बनाती है इसे साफ-सुरक्षित और संरक्षित रखना यहां की जनता का कार्य है कोई भी पर्व और त्योहार पड़ेगा तो यहां पर राप्ती के शुद्ध जल में नहान के लिए अलग घाट होगा जल शक्ति विभाग ने महायोगी गुरु गोरखनाथ के नाम अपर स्नान घाट है उस पार रामघाट और एक ओर राजघाट पर शवदाह का प्रबंध किया गया है लकड़ी के साथ इलेक्ट्रिक शव दाह होगा राजघाट का नाम बाबा मुक्तेश्वरनाथ के नाम पर होगा कहते हैं

कि बगल के मुक्तेश्वरनाथ मंदिर के पास से राप्ती नदी बहती रही है हॉर्वट बांध से यहां तक कि सड़क को ऊंचा कर 2 लेन कर दिया जाय नगर निगम और स्थानीय प्रशासन मिलकर इसके लिए कार्य प्रारम्भ करे ड्रेनेज को यहां राप्ती में नदी में गिरने से बचाएंगे जल है तो कल है राप्ती नदी को शुद्ध बनाएंग इसकी पवित्रता को बनाये रखेंगे इस पार और उस पर आरती के नियमित कार्यक्रम का स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर कमेटी बनाकर सुनिश्चित करें कितना सुंदर आज घाट लग रहा है लोगों को लगना चहिए की यहां के लोग भी सुंदर रामगढ़ताल को भी इसके पहले सुंदर बनाया गया है वहां पर सी प्लेन उतारने का प्लान है इसी मार्च में गोरखपुर को चिड़ियाघर की सौगात मिलेगी जानवर आने शुरू जो चुके हैं जब भी आपके पास समय हो तो वहां पर बच्चों को लेकर जाएं ज्ञानार्जन और आनंद भी आएगा चारों ओर 4 और 6 लेन कि सड़क बन रही है इससे यहां रोजगार के अवसर आएंगे तो लोगों को रोजगार के लिए पलायन नहीं करना पड़ेगा आप सबके प्रति बधाई देता हूं

दौरान जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह सदर सांसद रवि किशन राज्यसभा सांसद जयप्रकाश निषाद बांसगांव सांसद कमलेश पासवान महापौर सीताराम जायसवाल विधायक फतेह बहादुर सिंह विधायक विपिन सिंह विधायक विमलेश पासवान विधायक महेन्द्र पाल सिंह विधायक सन्त प्रसाद सहित अन्य जनप्रतिनिधि एडीजी जोन अखिल कुमार आईजी रेंज राजेश मोदक डी राव मंडलायुक्त जयंत नालिर्कर जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन डीआईजी/ एसएससी जोगिंदर कुमार पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार एडीएम सिटी राकेश कुमार श्रीवास्तव एडीएम वित्त राजेश कुमार सिंह ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर कुलदीप मीणा पुलिस अधीक्षक दक्षिणी अरुण कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज अवस्थी सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दिक्षित उत्तराधिकारी कोतवाली क्षेत्र अधिकारी खजनी सहित गुरु गोरक्षनाथ घाट पर सम्मानित जनता मौजूद रहे।