• Tue. Jan 31st, 2023

एनएच 24 नेशनल हाईवे बने टोल प्लाजा पर 5 किलोमीटर के दायरे वाले किसानों का टोल हो फ्री कराने की समाजसेवी ने सरकार से की मांग

Byadmin

Mar 25, 2021

मुरादाबाद :- उत्तर प्रदेश के जिला मुरादाबाद जनपद के थाना मूंढापांडे क्षेत्र के लखनऊ nh-24 नेशनल हाईवे नियामतपुर इकरोटिया बने टोल प्लाजा पर जब से यह टोल बना है तभी से क्षेत्र के किसान परेशान हाल है और बदहाली के आंसू रोने को मजबूर है इसके चलते अपने टोल फ्री करने को लेकर क्षेत्र के किसान मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार और टोल कर्मचारी क्षेत्रीय किसानों का टोल फ्री नहीं कर पा रहे है क्षेत्रीय किसानों को टोल देकर यहां से गुजरना पढ़ रहा है कई किसान संगठनों ने व काई समाजसेवी लोगों ने टोल पर क्षेत्रीय किसानों का टोल फ्री कराने को लेकर प्रदर्शन कर सरकार और प्रशासन से मांग भी की लेकिन अभी तक कोई भी सुनवाई नहीं हुई है और ना ही अभी तक क्षेत्रीय किसानों का टोल फ्री कराया गया है

क्षेत्र के कई किसानों के साथ टोल कर्मचारियों ने टोल ना देने को लेकर के टोल कर्मचारियों ने मारपीट की है और उनके खिलाफ एफ आईआर तक दर्ज भी कराई है अभी भी कई किसान ऐसे हैं जो टोल कर्मचारियों की दर्ज हुई एफ आई आर के कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं जिसमें आप सभी क्षेत्र के किसानों का यही कहना है और सरकार से मांग है कि क्षेत्र के सभी किसानों का टोल फ्री किया जाए लेकिन ना ही सरकार और ना ही मुरादाबाद प्रशासन और ना ही टोल कर्मचारी इस मांग को पूरा कर रहे हैं और अपनी मनमानी कर क्षेत्र के किसानों से टोल लेकर यहां से क्षेत्र के किसानों को जाने दे रहे हैं,,

जिसके चलते आज मुरादाबाद के थाना मूंढापांडे क्षेत्र के गोविंदपुर खुर्द के समाजसेवी डॉक्टर इर्तजा हुसैन ने अपने आवास पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया मीडिया के सामने रूबरू होते हुए समाजसेवी ने लखनऊ मूंढापांडे एनएच 24 नियामतपुर इकरोटिया टोल प्लाजा के 5 किलोमीटर के दायरे के क्षेत्रीय किसानों के टोल फ्री कराने को लेकर सरकार और मुरादाबाद प्रशासन से मीडिया के माध्यम से की मांग और कह 10 किलोमीटर के अनुशिक्षित व फास्टैग पेटीएम ना नॉलेज होने वाले किसानों के लिए कैश काउंटर का भी टोल कर्मचारियों द्वारा इंतजाम किया जाए ताकि इस टोल से गरीब जनता और गरीब किसानों को गुजरने में बड़ी राहत मिले समाजसेवी का यह भी कहना है कि जिन क्षेत्रीय किसानों पर टोल कर्मचारियों ने मारपीट कर उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई है

उनकी f.i.r. को सरकार और प्रशासन और टोल कर्मचारी वापस लें ताकि उन्हें भी एक टोल की तरफ से बड़ी निजात मिल सके और f.i.r. केस से लिफ्त मामलों से मुक्ती हो सकें वह भी एक राहत की सांस ले,, आगे बोलते हुए कह की क्षेत्र के किसानों से जबरदस्ती जो अब अवैध वसूली चल रही है उसको रोका जाए ताकि किसान परेशान ना हो,, जिसमें मीडिया से मुखातिब होते हुए समाजसेवी में अब योगी सरकार व मोदी सरकार और मुरादाबाद प्रशासन और टोल कर्मचारियों मांग की है कि गरीब जनता के लिए सब समस्याओं का समाधान होना चाहिए,,और इनका टोल फ्री किया जाए

अब देखने वाली बात यह होगी जिस तरह समाजसेवी ने सरकार से क्षेत्र के किसानों का टोल फ्री कराने की मांग की है क्या अब जल्द ही प्रशासन और सरकार द्वारा क्षेत्र के किसानों का टोलफ्री किया जाएगा या फिर यूं ही क्षेत्र का किसान टोल देता रहेगा और इसी तरह टोल की किल्लत से झूझता रहेगा