• Mon. Dec 5th, 2022

गांव में दौड़ रहीं जर्जर ग्यारह हजार की लाइन, चपेट में आने से मौत

Byadmin

Mar 26, 2021

मुरादाबाद :-

कटघर थाना क्षेत्र के गांव जैतिया सादुल्लापुर में बिजली विभाग की लापरवाही के चलते युवती की जान चली गई। ग्रामीणों का कहना है कि गांव के लोगों ने बिजली विभाग से कई बार शिकायत पहले भी की थी,लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों ने गांव में चल रही जर्जर हाई वोल्टेज ग्यारह हजार लाइन कि कोई सूध नही ली। जिसका खामियाजा युवती को जान गवां कर देना पड़ा।
जैतियां सादुल्लापुर निवासी रामपाल पुत्र फूल सिंह के परिवार में आठ लोग है। जिससे तीन बेटी ममता, शीला,अनिता और तीन बेटे राजेंद्र,राकेश,हरिओम है।

अनिता परिवार में सबसे छोटी थी। अनिता 16 वर्ष पशुओं के चारे के लिए जंगल जा रहीं थी। गांव के ही हरपाल पुत्र किशन लाल के खेत के पास ग्यारह हजार लाइन का तारा टूटा पड़ा था। अनिता ग्यारह हजार लाइन की चपेट में आ गई। जिससे अनिता बुरी तरह से झुलस गई,और अनिता की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। ग्यारह हजार की लाइन से अनिता की मौत की खबर गांव वालों को हुई तो गांव में सनसनी फैल गई और लोग घटना स्थल पर तुरंत पहुंच गए। गांव के लोग अनिता के पास पहुंचे, उससे पहले ही अनीता दम तोड़ चुकी थी।

घटना की सूचना थाना पुलिस के साथ बिजली विभाग को दी गई। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई,लेकिन लापरवाह बिजली विभाग का कोई भी अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचने कि हिम्मत नही जुटा सका। जिससे गांव के लोगों में आक्रोश उत्पन्न हो गया और गांव के लोग मांग पर अड़ गए। जब तक बिजली विभाग के अधिकारी मृत अनिता को देखने नही आते तब तक पुलिस को शव देने से भी लोगों ने इंकार कर दिया। हालांकि पुलिस ने किसी तरह से गांव वालों को समझा-बुझाकर शांत कराया और शव को कब्जे में लेकर पोस्मार्टम कार्यवाही के लिए भेज दिया। वही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। गांव में मातम पसरा रहा है।

जर्जर लाइन की सूचना देने के बाद भी नही जागा बिजली विभाग
मुरादाबाद के अलग-अलग गांव ऐसे मामले आए दिन सामने आते रहते है। बिजली विभाग को जर्जर लाइन और तार टूटने की सूचना दी जाती है। उसके बाद भी बिजली विभाग अपनी नीद से नही जागता है। नतीजा यह रहता है कि ग्यारह हजार लाइन का तार टूटकर लोगों के ऊपर गिर जाता है और मौत हो जाती है। मौत का शिकार होने के बाद विभाग अपनी नीद से जागता है। सूचना मिलने पर क्यों नही जागता बिजली विभाग.?हालंकि नया जीवन नही दिया जा सकता। लेकिन मौत की भरपाई का जिम्मेदार कौन होगा.?

बेपरवाह विभाग पर कार्यवाही नही होने से बढ़ रहा मौतों का ग्राफ
मुरादाबाद के अलग-अलग गांवों से बिजली विभाग की शिकायत विभाग के साथ-साथ पुलिस थानों तक कि गई,लेकिन बिजली विभाग ने कार्यवाही नही की, तो पुलिस ने भी बिजली विभाग के खिलाफ कार्यवाही करने की जहमत नहीं उठाई।